पंजाब यूनिवर्सिटी फीस बढ़ौतरी के खिलाफ बंद

0
115
Punjab university fee hike
AGENCY
पंजाब यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ौतरी के खिलाफ मंगलवार 11 अप्रैल को स्टूडेंट्स फॉर सोसायटी (एसएफएस) यूनिवर्सिटी बंद कराने वाली है और पीयू कैंपस स्टूडेंट्स काउंसिल (पीयूसीएससी) 10 मार्च को गवर्नर हाउस तक मार्च निकालेगी। मैमोरंडम देने या घेराव देने का फैसला मौके पर ही होगा। शुक्रवार को सभी स्टूडेंट पार्टियों के साथ वाइस चांसलर प्रो अरुण ग्रोवर की मीटिंग असफल रही। स्टूडेंट्स स्पेशल सीनेट बुला कर फीस बढ़ौतरी वापिस लेने की मांग कर रहे थे तो वीसी ने इस पर हामी नहीं भरी। 
Punjab university fee hike
मीटिंग के दौरान एबीवीपी के कृष्ण कुमार ने वीसी से सवाल किया कि आपका वेतन क्या है। एक प्रोफेसर की सैलरी क्या है। इस पर कुछ टीचर्स ने ऑब्जेक्शन किया। वीसी ने पहले तो जवाब दिया कि आप राइट टू इन्फॉर्मेशन के तहत जानकारी ले ली अौर बाद में उन्होंने अपनी बेसिक सैलरी शेअर कर दी। कृष्ण के ही डिपार्टमेंट से टीचर और वार्डन ने कहा कि कई-कई घंटे काम करने वाले टीचर्स से ऐसा सवाल ठीक नहीं। उनका तर्क था कि ‘फाइनेंशियल क्राइसिस’ का खामियाजा सिर्फ स्टूडेंट्स ही क्यों झेलें।
 SFS submitted memorandum against Fee Hike to punjab university Vice Chancellor
उनका कहना था कि 17 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद वह बोर्ड ऑफ फाइनेंस की मीटिंग बुलाएंगे और उसके बाद ही सीनेट बुलाने का डिसिजन होगा। वीसी ने फीस कमेटी के सभी 10 मेंबर्स से मुलाकात के लिए हामी भर दी है। ये मीटिंग 11 या 12 अप्रैल को पीयू कैंपस में ही होगी। मीटिंग में पीयूसीएससी के अलावा स्टूडेंट संगठनों के छह मेंबर्स शामिल होंगे। उल्लेखनीय है कि फीस बढ़ौतरी के खिलाफ वीरवार को पीयू में बड़ा प्रोटेस्ट हुआ था जिसमें पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा व वाटर कैनन भी चलाना पड़ा।
वाइस चांसलर प्रो अरुण ग्रोवर और स्टूडेंट संगठनों के बीच शुक्रवार की दोपहर को हुई मीटिंग के दौरान स्टूडेंट्स इसी डिमांड पर अड़े थे कि सीनेट की स्पेशल मीटिंग बुलाइए। वीसी ने कहा कि ये संभव नहीं है। इसके बाद स्टूडेंट्स इस बात पर एकमत हो गए कि पांच सीनेट मेंबर्स के साइन करवा कर सीनेटर्स की ओर से ही मीटिंग कॉल करवाई जाएगी। पीयूसीएससी प्रेसिडेंट निशांत कौशल ने बताया कि वह इसके लिए एक सीनेटर से बात चुके हैं जो उनकी मदद करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here